मंगलवार, 19 जनवरी 2010

वसंत पंचमी

विद्या की देवी सरस्वती की आराधना का पुनीत पर्व एवं ऋतुराज वसंत के आगमन पर आप समस्त स्नेहीजनों को शुभकामनाएँ .
ब्लाग-जगत में हम जिस प्रेम भावना के साथ हैं, प्रार्थना है कि वसुंधरा का प्रत्येक प्राणी  जाति-धर्म-भाषा से ऊपर उठ कर उसी निर्मल भाव से संसार को प्रेम-ज्योति से अवलोकित करे.


सोई तकदीर जगाने को वसंत आया है
प्यार के फूल खिलाने को वसंत आया है
अपनी आवाज़ के सुर आज मिलाओ इससे
इक नया राग सुनाने को वसंत आया है. 
                        


26 टिप्‍पणियां:

संजीव गौतम ने कहा…

आपको भी वसंत पर्व की कोटि कोटि शुभकामनाऐं

Mired Mirage ने कहा…

वसन्त पंचमी की आपको भी शुभकामनाएँ।
घुघूती बासूती

शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' ने कहा…

सर्वत साहब, आदाब
आपके जज्बे को सलाम
एक शेर
आपकी ज़मीन ही में -
दिल के खेतों में महकती हुई सरसों की तरह
रंग हर सिम्त दिखाने को बसंत आया है...
शाहिद मिर्ज़ा शाहिद

शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
सतीश सक्सेना ने कहा…

सबसे पहले बसंत की याद दिलाने के लिए शुक्रिया भाई जी

वन्दना अवस्थी दुबे ने कहा…

वसंतपंचमी की अनेकानेक शुभकामनायें. मां सरस्वती इसी प्रकार हमेशा आप के कर में विराजें, और आप हम सब का मार्गदर्शन करते रहें.

राज भाटिय़ा ने कहा…

आपको भी वसंत पर्व की शुभकामनाऐं

इस्मत ज़ैदी ने कहा…

sarwat sahab ,char linon ne vasant ki tasveer khainch di aur wo bhi ekta ki dor men bandhi hui,

गौतम राजरिशी ने कहा…

वसंत पंचमी की आपको भी बहुत-बहुत मुबारकबाद गुरुवर!

श्याम कोरी 'उदय' ने कहा…

.... बहुत सुन्दर, शुभकामनाएं !!!!

सुलभ 'सतरंगी' ने कहा…

सर्वत सर को प्रणाम!!
आप सभी को वसंत पंचमी की अनेक शुभकामनाएं!!

योगेश स्वप्न ने कहा…

shubhkaamnayen.

aapka jeevan vasant ho jaaye
khushi se rishta anant ho jaaye
kaamna jo ki,khushi maangen jo rab se
sochte hi wo turant ho jaaye.

श्रद्धा जैन ने कहा…

सोई तकदीर जगाने को वसंत आया है

प्यार के फूल खिलाने को वसंत आया है

अपनी आवाज़ के सुर आज मिलाओ इससे
इक नया राग सुनाने को वसंत आया है.


waah bahut sunder
basant panchami ki hardik shubhkamnaayen

"अर्श" ने कहा…

माँ शारदे को नमन...


aapko saadar pranaam,



arsh

अर्चना तिवारी ने कहा…

वसंत पंचमी की हार्दिक शुभ कामनाएँ...सुंदर एवं प्रभावशाली रचना

महफूज़ अली ने कहा…

वसंत पंचमी की हार्दिक शुभ कामनाएँ...सुंदर एवं प्रभावशाली रचना....

MUFLIS ने कहा…

हुज़ूर
बसंत की आमद की ऐसी नायाब दस्तक
आपकी जानिब से आई है,,,
तो हम भी इस्तेक़बाल को उतावले हैं ...


दिल के अरमानो ने ली झूम के फिर अंगड़ाई
सोये जज़्बात जगाने को बसंत आया है .

psingh ने कहा…

शर्वत साहब
बिलकुल दुरुस्त फ़रमाया आपने
सभी ब्लोगर के लिए जो आपने दुआ की
वो काबिले तारीफ है |
बसंत ऋतू पर प्रभावशाली रचना
बहुत बहुत आभार .............

दिगम्बर नासवा ने कहा…

आपको बसंत पंचमी की बहुत बहुत शुभकमनाएँ ....... सुंदर छन्द है सरस्वती की आराधना में ........

BrijmohanShrivastava ने कहा…

सोई तकदीर जगाने,प्यार के फूल खिलाने,नया राग सुनाने वसंत आया है बहुत उम्दा

अपूर्व ने कहा…

बसंत के आगमन पर इतने खूबसूरत शब्दों के गुलदस्ते के लिये शुक्रिया..और इस राग मे हमारी आवाज के सुर को भी शामिल समझें..

निर्मला कपिला ने कहा…

देर से ही सही बसंत पंचमी की आपको शुभकामनायें और इस सुन्दर सन्देश के लिये धन्यवाद्

singhsdm ने कहा…

बसंत पंचमी
पर आपको भी ढेर सारी शुभकामनायें/

psingh ने कहा…

सर्वत साहब
आया तो था आपके ब्लॉग पर कुछ नया पढने
लेकिन अभी आपने कुछ पोस्ट नहीं किया |
बहुत बहुत आभार

shama ने कहा…

अपनी आवाज़ के सुर आज मिलाओ इससे
इक नया राग सुनाने को वसंत आया है. waah!
Gantantr diwas dheron badhayi!
'Meree binake taar ho sabhi mile,
ek bheeni madhur jhankaar uthe,
meree matake sarpe taaj rahe"